Online Gambling 🎖️ Andar Bahar

(M88) - Online Gambling 100% entertainment and fun, guaranteed, Jackpot Casino Game get rewarded for your gaming skill. दुर्घटना के बाद कई लोगों ने घायल हुए लोगों की काफी मदद की। रेस्क्यू टीम ने घायल लोगों को निकालने में मदद की वहीँ, काफी लोगों ने पीड़ितों के लिए रक्त दान भी किया। इसी बीच भारतीय क्रिकेट के महान बल्लेबाज Virender Sehwag ने भी पीड़ितों के परिवार को मदद करने का फैंसला लिया है। उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल पर पोस्ट कर बताया कि वे हादसे में अनाथ हुए बच्चो को मुफ्त में पढाई करवाएंगे।

Online Gambling

Online Gambling
100% entertainment and fun, guaranteed

शहरीकरण की वजह से वन्‍य क्षेत्र घट रहा है। यह वन्‍य जीवों के अस्‍तित्‍व के लिए ठीक नहीं है। वन्‍य जीव आखिर कहां जाएंगे। जहां तक इंसानों की सुरक्षा का सवाल है तो मध्‍यप्रदेश में वन विभाग ने हर जिले में एक रेस्‍क्‍यू सेंटर खोला है। हालांकि अब तक इंसानों पर हमले का कोई मामला सामने नहीं आया है। -- पीके सिंह, पीसीसीएफ और फॉरेस्‍ट ट्रेनिंग सेंटर प्रमुख, भोपाल। Online Gambling, नई दिल्ली। कांग्रेस ने मंगलवार को आरोप लगाया कि बालासोर रेल हादसे की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की सरकार की घोषणा सिर्फ हेडलाइन मैनेजमेंट है। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने वर्ष 2016 में कानपुर के निकट हुए एक रेल हादसे का उल्लेख करते हुए कहा कि उस मामले में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) से जांच कराए जाने की घोषणा की गई थी, लेकिन आज तक पता नहीं चल पाया कि उस जांच का नतीजा क्या निकला? उन्होंने दावा किया कि बालासोर रेल हादसे के मामले में रेलवे सुरक्षा आयुक्त की ओर से रिपोर्ट सौंपे जाने से पहले ही सीबीआई जांच का ऐलान कर दिया गया। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने रविवार की शाम घोषणा की थी कि बालासोर रेल हादसे की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की गई है। रमेश ने ट्वीट किया कि रेलवे सुरक्षा आयुक्त द्वारा बालासोर रेल हादसे के बारे में अपनी रिपोर्ट सौंपे जाने से पहले ही सीबीआई जांच की घोषणा कर दी गई। यह कुछ और नहीं, बल्कि हेडलाइन मैनेजमेंट है। उन्होंने कहा कि अब यह घटनाक्रम याद कीजिए। 20 नवंबर, 2016 को इंदौर-पटना एक्सप्रेस कानपुर के निकट पटरी से उतर गई। इसमें 150 से अधिक लोगों की जान चली गई। तत्कालीन रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने 23 जनवरी 2017 को केंद्रीय मंत्री को पत्र लिखकर इस घटना की एनआईए जांच की मांग की। 24 फरवरी 2017 को प्रधानमंत्री ने कहा कि कानपुर ट्रेन दुर्घटना एक साजिश थी। रमेश ने दावा किया कि 21 अक्टूबर 2018 को अखबारों में प्रकाशित खबरों में कहा गया कि एनआईए इस मामले में कोई आरोप पत्र दाखिल नहीं करेगी। 6 जून, 2023 तक इस बात की कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है कि कानपुर रेल हादसे पर एनआईए की अंतिम रिपोर्ट क्या है? कोई जवाबदेही नहीं। एक दिन पहले सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने बालासोर रेल हादसे के वास्तविक कारणों का पता लगाने के लिए इस मामले के सभी पहलुओं की जांच की मांग करते हुए प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखा था। पत्र में उन्होंने कहा था कि सीबीआई की जांच से तकनीकी, संस्थागत और राजनीतिक विफलताओं की जवाबदेही तय नहीं हो सकती। उन्होंने पत्र में यह भी कहा कि सीबीआई रेल दुर्घटनाओं की जांच के लिए नहीं है, वह अपराधों की छानबीन करती है। पूर्व रेलमंत्री खरगे ने आरोप लगाया था कि सरकार जवाबदेही तय करने के किसी भी प्रयास को नाकाम करने और लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है। उल्लेखनीय है कि ओडिशा के बालासोर में कोरोमंडल एक्सप्रेस शुक्रवार शाम करीब 7 बजे लूप लाइन पर खड़ी एक मालगाड़ी से टकरा गई जिससे कोरोमंडल एक्सप्रेस के अधिकतर डिब्बे पटरी से उतर गए। उसी समय वहां से गुजर रही तेज रफ्तार बेंगलुरु-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस के कुछ डिब्बे कोरोमंडल एक्सप्रेस से टकरा कर पटरी से उतर गए। इस हादसे में कम से कम 275 लोगों की जान चली गई। इस मामले की सीबीआई जांच की घोषणा की गई है।(भाषा) Edited by: Ravindra Gupta

कटि का अर्थ कमर अर्थात कमर का चक्रासन। यह आसन खड़े होकर किया जाता है। उक्त आसन में दोनों भुजाओं, गर्दन तथा कमर का व्यायाम होता है। पहले सावधान की मुद्रा में खड़े हो जाएँ। फिर दोनों पैरों में लगभग एक फीट की दूरी रखकर खड़े हो जाएँ। फिर दोनों हाथों को कन्धों के समानान्तर फैलाते हुए हथेलियाँ भूमि की ओर रखें। फिर बायाँ हाथ सामने से घुमाते हुए दाएँ कंधे पर रखें। फिर दायाँ हाथ मोड़कर पीठ के पीछे ले जाकर कमर पर रखिए। ध्यान रखें की कमर वाले हाथ की हथेली ऊपर ही रहे। अब गर्दन को दाएँ कंधे की ओर घुमाते हुए पीछे ले जाएँ। कुछ देर इ‍सी स्थिति में रहें। फिर गर्दन को सामने लाते हुए क्रमश: हाथों को कंधे के समानान्तर रखते हुए अब इसी क्रिया को दाएँ ओर से करने के पश्चात बाएँ ओर से कीजिए। इस प्रकार इसके एक-एक ओर से 5-5 चक्र करें। M88 Get Lucky And Win Big! get rewarded for your gaming skill Odisha Rail Accident: ओडिशा के बालासोर में हुए ट्रेन हादसे के बाद अब मुआवजे के लिए तरह तरह के जुगाड सामने आने लगे हैं। दरअसल, हादसे के बाद रेल मंत्रालय और केंद्र सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया है। लेकिन अब मुआवजे के लिए जालसाजी का मामले सामने आने लगे हैं। एक महिला ने यह अनुग्रह राशि (Government Ex Gratia) हासिल करने के लिए अपने पति की मौत का ही झूठा दावा कर दिया।

Andar Bahar

आग लगने की सूचना मिलते ही यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। चेन पुलिंग हुई और ट्रेन क्रॉसिंग के पास रोक दी गई। ट्रेन रुकते ही यात्री खिड़की दरवाजा सबसे कूदकर भागने लगे सूचना मिलते ही पुलिस और रेलकर्मी मौके पर पहुंचकर आग बुझाने में जुट गए। पुलिस इंस्पेक्टर विनोद कुमार मौर्य ने बताया कि इस हादसे में कोई यात्री प्रभावित नहीं हुआ है।(file photo) Andar Bahar, कृति शर्मा

Play and Collect Prizes! M88 आईपीएल मेगा निलामी में गुजरात टाइटंस के लिए 3.2 करोड़ की राशि में खरीदे गए यश दयाल का यह सत्र खासा निराशाजनक रहा। रिंकू सिंह द्वारा अंतिम ओवर में 5 छक्के मारने के बाद उनको सिर्फ 1 ही मैच में मौका मिला। कुल 5 मैचों में 84 गेंदो में 165 रन देने के बाद वह सिर्फ 2 विकेट ले पाए।दयाल घरेलू क्रिकेट में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते है। वह पिछले साल भारत ए के लिए भी खेल चुके है। गिल ने आईसीसी के साथ बातचीत में कहा, “यह (आईपीएल में प्रदर्शन) आपको थोड़ा आत्मविश्वास तो देता है, लेकिन मुझे लगता है कि यहां परिदृश्य बिलकुल भिन्न है और यह एक अलग मैच है।”उन्होंने कहा, “यही इसकी खास बात भी है। पिछले हफ्ते हम एक अलग माहौल में अलग तरह की क्रिकेट खेल रहे थे। यह एक नयी चुनौती है और यही टेस्ट क्रिकेट को रोमांचक बनाता है।”

Jackpot Casino Game

मुंबई। today Stockmarket : सकारात्मक वैश्विक संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजारों में रिलायंस, आईसीआईसीआई बैंक और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी दिग्गज कंपनियों में लिवाली तेज रहने से सोमवार को लगातार दूसरे कारोबारी दिन दोनों मानक सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी बढ़त के साथ बंद हुए। शेयर बाजार में तेजी से निवेशकों की संपत्ति करीब 92,000 करोड़ बढ़ गई। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 240.36 अंक यानी 0.38 प्रतिशत चढ़कर 62,787.47 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 369.09 अंक तक उछल गया था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का मानक सूचकांक निफ्टी भी 59.75 अंक यानी 0.32 प्रतिशत चढ़कर 18,593.85 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स में शामिल शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा में सर्वाधिक 3.81 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई। एक्सिस बैंक में भी 2.68 प्रतिशत की बढ़त रही। इसके अलावा टाटा मोटर्स, लार्सन एंड टुब्रो, टाटा स्टील, आईसीआईसीआई बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, मारुति सुजुकी, इंडसइंड बैंक और सन फार्मा के शेयर भी चढ़कर बंद हुए। दूसरी तरफ एशियन पेंट्स, टेक महिंद्रा, नेस्ले, हिंदुस्तान यूनिलीवर, कोटक महिंद्रा बैंक और आईटीसी के शेयरों में गिरावट का रुख देखा गया। एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्की, चीन का शंघाई कम्पोजिट और हांगकांग का हैंगसेंग बढ़त के साथ बंद हुए। यूरोप के बाजारों में दोपहर के सत्र में मिला-जुला रुख देखने को मिला। अमेरिकी बाजार पिछले कारोबारी दिन शुक्रवार को बढ़त के साथ बंद हुए थे। भारत के सेवा क्षेत्र की वृद्धि मई में हल्की गिरावट के बावजूद 61 अंक से ऊपर है। एक मासिक सर्वेक्षण में सोमवार को कहा गया कि मांग की अनुकूल स्थिति और नए ग्राहकों की मदद से यह हासिल हुई है। अप्रैल के मुकाबले मई में गतिविधियों में गिरावट के बावजूद सेवा उत्पादन में जुलाई, 2010 के बाद से दूसरी सबसे तेज वृद्धि हुई। अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.92 प्रतिशत चढ़कर 77.59 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने भारतीय बाजारों से निकासी की है। एक्सचेंज से मिले आंकड़ों के मुताबिक, एफआईआई ने शुक्रवार को 658.88 करोडड रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध बिकवाली की थी। एजेंसियां Jackpot Casino Game, Travel in june : इस वर्ष यदि आपका जून माह में घूमने का प्लान है समुद्री क्षेत्र में जाने का कोई मतलब नहीं क्योंकि वहां पर हाई टाईड के कारण वाटर एक्टिविटी बंद हो जाती है। जून माह में बारिश की शुरुआत होने के कारण कई जगहों पर बारिश के कारण खतरा बड़ जाता है। जैसे उत्तराखंड और हिमाचल के कुछ क्षेत्रों में भूस्खलन का खतरा रहता है। जानिए ऐसे में आपको कहां घूमने जाना चाहिए। 1. पचमढ़ी : मध्यप्रदेश में अमरकंटक के पास ही होशंगाबाद जिले में पचमड़ी बहुत ही खूबसूरत हिल स्टेशन है। ऊंचे ऊंचे पहाड़, झील, झरने, गुफाएं, जंगल सभी कुछ हैं यहां पर। झरनों के लिए आप मध्यप्रदेश के पचमड़ी में जाएं। पचमढ़ी में आपको बहुत सारे झरने देखने को मिलेगें। यहां का तापमान भी बहुत कम रहता है। जरा भी गर्मी का अहसान नहीं होता है। जून के प्रथम पखवाड़े में आप यहां घूमने जा सकते हैं। 2. मसूरी : मसूरी हिल स्टेशन उत्तराखंड राज्य का पर्वतीय नगर है जो गंगोत्री का प्रवेश द्वार भी है। मसूरी के एक ओर से गंगा नजर आती है तो दूसरी ओर से यमुना नदी। यहां पर दुर्लभ वनस्पतियां और जीव जंतु पाए जाते हैं। यहां के ऊंचे ऊंचे पहाड़ और हरी भरी छटा देखते ही बनती है। पतली घुमावदार सड़कें, हरे-भरे पेड़, दूर तक नजर आती ऊंची-नीची पहाड़ियां, एक ओर दूर नजर आते बर्फ से ढंके सफेद पहाड़, दूसरी ओर पहाड़ों की गोद में बने छोटे-छोटे घर यानी देहरादून शहर। 3. मुन्नार (केरल) : केरल का मुन्नार हिल स्टेशन स्वर्ग के समान है। तीन पर्वतों की श्रृंखला- मुथिरपुझा, नल्लथन्नी और कुंडल, के मिलन स्थल पर स्थित है मुन्नार। इस हिल स्टेशन की पहचान है यहां के विस्तृत भू-भाग में फैली चाय की खेती, औपनिवेशिक बंगले, छोटी नदियां, झरनें और ठंडे मौसम। ट्रैकिंग और माउंटेन बाइकिंग के लिए यह एक शानदार स्थल है। 4. नैनीताल : बर्फ से ढ़के पहाड़ों के बीच झीलों से घिरा नैनीताल उत्तराखंड राज्य का प्रसिद्ध हनीमून स्पॉट है। यहां आकर आपको शांत और प्रकृति के पास होने जैसा महसूस होगा। नैनीताल झील, नैनादेवी मंदिर, नैना चोटी, गर्वनर हाउस, टिफिन टॉप और पंडित जीबी पंत प्राणी उद्यान यहां के प्रसिद्द स्थल है। शॉपिंग के लिए आप मार्केट मॉलरोड जा सकते हैं। ताल में बत्तखों के झुंड, रंग-बिरंगी नावें और ऊपर से बहती ठंडी हवा यहां एक अदभुत नजारा पेश करते हैं। ताल का पानी गर्मियों में हरा, बरसात में मटमैला और सर्दियों में हल्का नीला दिखाई देता है। 5. शिलॉन्ग : यदि आप गर्मी के माह ठंठी जगह पर घूमना चाहते हैं तो मेघालय जरूर जाएं। यहां प्रमुख रूप से शिलॉन्ग को जरूर देखें। मेघालय की राजधानी शिलॉन्‍ग भारत का सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन है। इसे पूर्व का स्कॉटलैंड कहा जाता है। यहीं पास में चेरापूंजी भी है।

चित्रकूट। श्री बागेश्वर धाम सरकार पं. धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री वर्तमान समय में किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। आज इनके करोड़ों भक्तों की संख्या देश और विदेशों में है। अब इन्हीं पंडितजी से विवाह की कामना लेकर एक एमबीबीएस छात्रा शिवरंजनी तिवारी ने पदयात्रा निकाली है। उसने गंगोत्री धाम से श्री बागेश्वर धाम तक सर पर गंगा जल का कलश लेकर पदयात्रा शुरू की है। शनिवार को शिवरंजनी तिवारी चित्रकूट स्थित संतोषी अखाड़ा पहुंचीं, जहां चित्रकूट के साधु-संतों के समक्ष भजनों का गायन करते हुए मनोकामना पूर्ति के लिए आशीर्वाद प्राप्त किया। शिवरंजनी तिवारी ने बताया कि सिर पर गंगा जल का कलश लेकर वे पदयात्रा निकाल रही हैं। उधर लोगों ने कहा कि कहा कि बागेश्वर धाम सरकार पं. धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री से विवाह की कामना को लेकर यह पदयात्रा शुरू की गई है। इस पर बार-बार पूछे जाने के बाद शिवरंजनी तिवारी ने केवल यही कहा कि सभी लोग अगली 16 तारीख का इंतजार करें। वे पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्रीजी को 'प्राणनाथ' कहती हैं। शिवरंजनी ने कहा कि 16 तारीख को धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्रीजी ही उनके मन की बात बताएंगे। संतोषी अखाड़ा के श्री महंत श्रीरामजी दास महाराज ने कहा कि विवाह संस्कार विधि का विधान होता है, लेकिन अगर इसी कामना को लेकर शिवरंजनी तिवारी की ओर से पदयात्रा की जा रही है तो चित्रकूट के साधु-संतों का पूर्ण आशीर्वाद है। यात्रा में शिवरंजनी तिवारी के पिता, भाई और अन्य लोग भी शामिल हैं। Leo Games Casino रद्द हो सकता है एशिया कप