Akbar Birbal Hindi Story

Hindiprogyan.com में स्वागत है। आज की पोस्ट में Akbar Birbal Hindi Story बताने वाला हु। इस Akbar Birbal Hindi Kahani पढ़के ज्ञान मिलेगा और मजेदार भी लगेगा इस Hindi Story को अंत तक पढ़ते रहे है। आज का Hindi Kahani का नाम यह हुजूर का दिया है (Yeh Hujur Diya Hai).

Akbar Birbal Story in Hindi ज़्यदातर छोटे बचे को अच्छा लगता है.Akbar Birbal Kahani in Hindi,Akbar Birbal Hindi Short Story,Short Story In Hindi,Birbal story in hindi, akbar aur birbal ki kahani hindi mai , birbal ki kahani story .

यह हुजूर का दिया है-Akbar Birbal Story in Hindi

Akbar Birbal Story In Hindi
Akbar Birbal Story In Hindi

सर्दियाँ ख़त्म हो रही थी और सूर्य की किरणों की गरमी बढ़ने लगी थी। माहौल बड़ा सुखद प्रतीत हो रहा था। ऐसे में बीरबल और अकबर अपने अपने घोडो पर सवार होकर कुदरत के नज़ारे देखने को निकल पड़े।

चारो और की सुन्दरता को देखकर बादशाह के मुंह से यह निकल पड़ा – “भाई अस्क पेदार शूमस्त (शूमा हस्त)”

इन शब्दों के दो अर्थ थे; पहला अर्थ फारसी में था की “यह घोड़ा तुम्हारे बाप का है” और दूसरा अर्थ था “यह घोड़ा तुम्हारा बाप है”

बीरबल तुंरत समझ गए कि बादशाह क्या कहना चाहते है। वह बोले, “दाद-ए-हुजूरस्त”

इसका अर्थ था कि “यह हुजूर का दिया है”

बीरबल का जबाब सुनकर बादशाह के पास कहने को कुछ भी नही बचा था। जैसे को तैसा जवाब बीरबल ने दिया।

ये कहानी पढ़े :-

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: hindiprogyan@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!